Friday , June 5 2020
Breaking News
होम / राजनीति / मोदी की हत्या की साजिश वाले पत्र पर शरद पवार ने उठाए सवाल

मोदी की हत्या की साजिश वाले पत्र पर शरद पवार ने उठाए सवाल

पुणे

जिस पत्र के आधार पर यह कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश हो रही है, उसे नैशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) अध्यक्ष शरद पवार ने खारिज किया है। शरद का कहना है कि एक रिटायर्ड सीआईडी अधिकारी ने उन्हें बताया है कि पत्र में ऐसा कुछ है नहीं और इसका इस्तेमाल सिर्फ सहानुभूति लेने के लिए किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने गिरफ्तारी के मामले पर कहा कि सत्ता का दुरुपयोग किया जा रहा है।

इस बारे में शरद पवार ने रविवार को कहा, ‘वे कहते हैं कि एक धमकाने वाला पत्र मिला है। मैंने एक रिटायर्ड पुलिस अधिकारी से बात की जोकि सीआईडी के लिए काम कर चुके हैं। उन्होंने मुझे बताया कि पत्र में ऐसा कुछ है ही नहीं। पत्र का उपयोग लोगों की सहानुभूति लेने के लिए किया जा रहा है।’

शरद ने लगाया सत्ता के दुरुपयोग का आरोप
उन्होंने आगे कहा, ‘जब एकसमान सोचवाले लोगों ने मिलकर एल्गार परिषद का आयोजन किया तो उन्हें नक्सली कहकर गिरफ्तार कर लिया गया। सब जानते हैं कि भीमा-कोरगांव में हिंसा किसने की लेकिन जिनका इससे कोई संबंध नहीं है, वे गिरफ्तार हो गए। यह सिर्फ सत्ता का दुरुपयोग है बस।’

गौरतलब है कि भीमा-कोरेगांव में हिंसा भड़काने की साजिश के आरोप में पांच लोग गिरफ्तार किए गए। पुलिस का दावा है कि इन आरोपियों के पास से एक लेटर में बरामद हुआ, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की ही तरह वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही हत्या किए जाने की योजना पर बात की गई है। बता दें कि पुलिस ने बुधवार को रोना जैकब विल्सन, सुधीर ढावले, सुरेंद्र गाडलिंग सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। विल्सन को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था, ढावले को मुंबई से, गाडलिंग, शोमा सेन और महेश राउत को नागपुर से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस का कहना है कि यह पत्र विल्सन के दिल्ली के मुनिरका स्थित फ्लैट से बरामद किया गया है।

पत्र में क्या है?
पत्र में कहा गया है, ‘मोदी 15 राज्यों में बीजेपी को स्थापित करने में सफल हुए हैं। यदि ऐसा ही रहा तो सभी मोर्चों पर पार्टी के लिए दिक्कत खड़ी हो जाएगी। … कॉमरेड किसन और कुछ अन्य सीनियर कॉमरेड्स ने मोदी राज को खत्म करने के लिए कुछ मजबूत कदम सुझाए हैं। हम सभी राजीव गांधी जैसे हत्याकांड पर विचार कर रहे हैं। यह आत्मघाती जैसा मालूम होता है और इसकी भी अधिक संभावनाएं हैं कि हम असफल हो जाएं, लेकिन हमें लगता है कि पार्टी हमारे प्रस्ताव पर विचार करे। उन्हें रोड शो में टारगेट करना एक असरदार रणनीति हो सकती है। हमें लगता है कि पार्टी का अस्तित्व किसी भी त्याग से ऊपर है। बाकी अगले पत्र में।’

About Editor eKhabari

इसे भी पढ़ें

केजरी की इस गलतफहमी पर CEO नीति आयोग का जवाब

नई दिल्ली दिल्ली में आईएएस अधिकारियों की कथित हड़ताल खत्म कराने की मांग को लेकर …