Friday , June 22 2018
Breaking News
होम / राजनीति / नितिन की नाराजगी में कांग्रेस को दिखा ‘मौका’

नितिन की नाराजगी में कांग्रेस को दिखा ‘मौका’

अहमदाबाद

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की नई सरकार में फूट पड़ती दिखाई दे रही है। मनचाहा मंत्रालय नहीं मिलने की वजह से डेप्युटी सीएम नितिन पटेल की नाराजगी अभी भी कायम है, हालांकि उन्हें मनाने की कोशिशें भी जारी हैं। इस बीच कांग्रेस के एक बड़े दावे से गुजरात की राजनीति में नया मोड़ आ गया है। कांग्रेस ने दावा किया है कि बीजेपी के आठ विधायक उसके संपर्क में हैं और अगर नितिन पटेल पार्टी छोड़ आ जाएं तो वह सरकार बना लेगी।

हालांकि कांग्रेस के इस दावे में कुछ खास दम नजर नहीं आ रहा है। दो तिहाई से कम विधायकों के टूटने की स्थिति में उनकी सदस्यता को समाप्त किया जा सकता है और विधायकों पर दल बदल निरोधक कानून लागू होगा। हालांकि इस पूरी कवायद ने एक बार के लिए बीजेपी के माथे पर चिंता की लकीरें तो जरूर खींच दी हैं। डेप्युटी सीएम नितिन पटेल के अहमदाबाद स्थित घर के बाहर भारी संख्या में समर्थक मौजूद हैं।

नितिन पटेल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा है कि उन्होंने अबतक कोई फैसला नहीं लिया है। उन्होंने कहा है कि अब यह पार्टी के हाथ में है कि वह उनका सम्मान लौटाए। जाहिर तौर पर एक बात तो साफ है कि गुजरात बीजेपी और पटेलों के कद्दावर नेता नितिन पटेल अपनी नाराजगी स्पष्ट तौर पर जाहिर कर रहे हैं।

नितिन को मनाने की कोशिशों में जुटी बीजेपी
बीजेपी भी अपनी तरफ से नितिन पटेल को मनाने की कोशिशों में जुटी हुई है। गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष जीतू वघानी ने कहा है कि नितिन पटेल हमारे सम्मानित नेता हैं और हम जल्द ही इस मसले का समाधान निकाल लेंगे। उन्होंने कहा है कि फिलहाल वह भावनगर में हैं और जल्द ही नितिन पटेल से मिलेंगे। इस बीच गुजरात बीजेपी के दूसरे वरिष्ठ नेता नरोत्तम पटेल ने नितिन से मुलाकात की है।

नरोत्तम ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘नितिनभाई पटेल गुजरात के उपमुख्यमंत्री हैं और बहुत काबिल नेता हैं। मैं उनसे मिलने आया हूं क्योंकि वह मनचाहे विभाग न मिलने से निराश हैं।’ उन्होंने पार्टी से नितिन को उनके मनचाहे विभाग देने के बारे में विचार करने की गुजारिश भी की है।

हार्दिक-कांग्रेस को मिला मौका, सामने आए बड़े दावे
गुजरात बीजेपी में दरार की संभावनाओं को हार्दिक पटेल और कांग्रेस, दोनों की तरफ से ही मौके के रूप में देखा जा रहा है। हार्दिक पटेल ने कहा है कि वह नितिन भाई पटेल को सीएम के रूप में देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा है कि अगर नितिन पटेल बीजेपी छोड़ते हैं तो वह दूसरे दल की तरफ से उन्हें सीएम का पद दिलाने में मदद कर सकते हैं। हार्दिक का इशारा सीधे दौर पर कांग्रेस की ही तरफ है क्योंकि गुजरात का दूसरा दल यही पार्टी है।

हार्दिक ने कहा है कि संघ की विचारधारा में भरोसा रखने वाले भूपेंद्रसिंह चुडस्मा और शंकर चौधरी जैसे नेता भी बीजेपी में नजरअंदाज किए जा रहे हैं। पाटीदार नेता ने दावा किया है कि वह नॉर्थ गुजरात के 3 बीजेपी विधायकों के संपर्क में हैं, जो कांग्रेस में शामिल होना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर नितिन पटेल भी पार्टी छोड़ना चाहते हैं तो वह उन विधायकों को उनका समर्थन करने को कहेंगे।

गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष भारतसिंह सोलंकी ने भी दावा किया है कि बीजेपी के आठ विधायक उनके संपर्क में है। उन्होंने कहा है कि अगर नितिन पटेल पार्टी छोड़ते हैं तो कांग्रेस के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त विधायक हो जाएंगे।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....

About Yogendra Mishra

इसे भी पढ़ें

PM मोदी के घर डिनर करेंगे BJP-RSS के नेता, 2019 पर होगा मंथन

नई दिल्ली 2019 लोकसभा चुनाव को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी कमर कस …