Monday , May 28 2018
Breaking News
होम / राज्य / PMO के नाम पर ठगी का ‘गंदा’ खेल, खुल गई पोल

PMO के नाम पर ठगी का ‘गंदा’ खेल, खुल गई पोल

लखनऊ

बीआई दिल्ली ने प्रधानमंत्री कार्यालय समेत अन्य सरकारी विभागों के नाम पर सरकारी नौकरी का झांसा देकर ठगी करने के आरोप में निजी संस्था के संचालकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है पीएमओ की शिकायत पर सीबीआई की टीम ने मामले की शुरुआती जांच की और साक्ष्य मिलने के बाद केस दर्ज किया है। लखनऊ, आगरा, दिल्ली से संचालित होने वाली संस्था राष्ट्रीय कृषि आयात निर्यात परिषद के संचालक यह फर्जीवाड़ा कर रहे थे।

पीएमओ में तैनात जॉइंट डेप्युटी डायरेक्टर ने की शिकायत
सीबीआई के मुताबिक, पीएमओ में तैनात जॉइंट डेप्युटी डायरेक्टर प्रीतेंद्र कुमार की शिकायत पर 8 मई 2017 में प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू की गई थी। सीबीआई को शिकायत में जानकारी दी गई थी कि 11 जून 2015 को अंडर सेक्रटरी डॉ. राम्या कुमारी के हस्ताक्षर से पीएमओ की तरफ से मुंबई के रेवेन्यू कमिश्नर को ऑफिस मेमोरैंडम जारी किया गया। इसमें राष्ट्रीय कृषि आयात निर्यात परिषद को सम्मान पत्र जारी करने को कहा गया जबकि पीएमओ ऑफिस के मुताबिक, उनके यहां से ना ही इस तरह का कोई ऑफिस मेमोरैंडम जारी हुआ और ना ही डॉ. राम्या कुमारी नाम की कोई अफसर उनके यहां तैनात हैं। इसके बाद सीबीआई ने मामले की पड़ताल शुरू की।

सीबीआई की पड़ताल में हुआ खुलासा
सीबीआई की पड़ताल में खुलासा हुआ कि लखनऊ के इंदिरा नगर निवासी काशीनाथ तिवारी और आगरा निवासी प्रियांक वर्मा ने साथियों की मदद से यह फर्जीवाड़ा किया है। इन लोगों ने अपनी संस्था राष्ट्रीय कृषि आयात निर्यात परिषद को सरकारी बताते हुए लोगों को सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा दिया। इन लोगों ने बताया कि इनका एक दफ्तर इंदिरा नगर के सी ब्लॉक में, एक आगरा में और एक दिल्ली के शकरपुर में संचालित है।

लोगों से वसूले थे 6-6 लाख रुपये
प्रियांक आगरा के रीजनल ऑफिस का हेड था। इन लोगों ने नौकरी का झांसा देकर जलेसर के तुलसीराम और सोनीपत के दीपक रंगी से 6-6 लाख और बिहार के गोपालगंज निवासी विशाल मिश्रा से 50 हजार रुपये की ठगी की। लोगों को झांसा देने के लिए जालसाजों ने पीएमओ, वित्त विभाग और मुंबई के रेवेन्यू कमिश्नर के नाम पर तैयार किए गए जाली सम्मान पत्र और अन्य फर्जी दस्तावेज दिखाए थे।

वेबसाइट के जरिए कर रहे थे ठगी
जालसाजों ने चीफ कमिश्नर ऑफ कस्टम मुंबई के नाम पर फर्जी सम्मान पत्र भी तैयार करवाया था। जालसाज एक वेबसाइट के जरिए भी बेरोजगारों को फंसाकर ठग रहे थे।

दोस्तों के साथ शेयर करे.....

About Yogendra Mishra

इसे भी पढ़ें

15 साल के स्टूडेंट के साथ सेक्स करती थी महिला टीचर, गिरफ्तार

चंडीगढ़ हरियाणा की चंडीगढ़ पुलिस ने 33 वर्षीय महिला टीचर को गिरफ्तार किया है। टीचर …