झारखंड पुलिस के प्रशिक्षण संस्थान के पासिंग आउट परेड में एकरूपता की कमी, DGP ने जारी किया गाइडलाइन

Ranchi: झारखंड पुलिस के प्रशिक्षण संस्थान में होने वाले पासिंग आउट परेड में एकरूपता की कमी देखी जा रही है. इसे लेकर डीजीपी अजय कुमार सिंह ने गाइडलाइन जारी किया है. जारी किए गए पुलिस आदेश में कहा गया है कि इस वर्ष जैप एक रांची और जैप नौ साहेबगंज में जिला और सशस्त्र वाहिनी […]

May 15, 2024 - 17:30
 0  3
झारखंड पुलिस के प्रशिक्षण संस्थान के पासिंग आउट परेड में एकरूपता की कमी, DGP ने जारी किया गाइडलाइन
झारखंड पुलिस के प्रशिक्षण संस्थान के पासिंग आउट परेड में एकरूपता की कमी, DGP ने जारी किया गाइडलाइन

Ranchi: झारखंड पुलिस के प्रशिक्षण संस्थान में होने वाले पासिंग आउट परेड में एकरूपता की कमी देखी जा रही है. इसे लेकर डीजीपी अजय कुमार सिंह ने गाइडलाइन जारी किया है. जारी किए गए पुलिस आदेश में कहा गया है कि इस वर्ष जैप एक रांची और जैप नौ साहेबगंज में जिला और सशस्त्र वाहिनी के नवनियुक्त आरक्षण का पासिंग आउट परेड संपन्न हुआ. इस परेड के निरीक्षण के दौरान यह देखा गया कि प्रशिक्षण संस्थान वार पासिंग परेड की प्रक्रिया में काफी भिन्नता है. जिसको लेकर झारखंड पुलिस के अंदर आने वाले सभी प्रशिक्षण संस्थानों में प्रशिक्षण के बाद होने वाले पासिंग आउट परेड के लिए 38 बिंदुओं का एक गाइडलाइन जारी किया गया है.

इसे भी पढ़ें – चेकिंग अभियान रुकने से राजधानी की सड़कों पर फिर से बढ़ गए गैर परमिट वाले ऑटो

ये है मुख्य गाइडलाइन जिसे पालन करने का आदेश किया गया जारी

पासिंग आउट परेड के लिए परेड ग्राउंड की क्षमता और आवश्यकता के अनुसार पुरुष और महिला प्रशिक्षुओं का प्लाटून तैनात किया जाएगा

परेड शुरू होने से न्यूनतम 20 मिनट पहले मैदान में निर्मित किले का द्वार खोला जाएगा.

सभी प्लाटून अपने-अपने निर्धारित निरीक्षण लाइन पर पहुंचकर कदमताल करते हुए और बैंड के धुन पर थम हो जाएंगे.

विशिष्ट और अति विशिष्ट व्यक्ति के सलामी मंच पर निर्धारित स्थान पर पहुंचते ही परेड कमांडर द्वारा कमांड दिया जाएगा.

परेड किया बाजू शस्त्र की स्थिति में आने पर परेड कमांडर सलामी मंच की ओर मार्च करेंगे.

राष्ट्रीय सेल्यूट के समय आमंत्रित सभी अतिथि परेड ग्राउंड में खड़े हो जाएंगे, और उनमें जो वर्दी धारी अधिकारी होंगे हुए सेल्यूट करेंगे.

परेड कमांडर द्वारा मानवाधिकार और पुलिस कर्तव्य को पढ़ाते हुए सभी प्रशिक्षुओं को शपथ दिलाया जाएगा.

शपथ ग्रहण के बाद डंके की आवाज में सावधान की स्थिति में आएंगे

ध्वज टोली के अपने निर्धारित स्थान पर पहुंचने के बाद परेड कमांडर द्वारा कमांड दिया जाएगा.
इसे भी पढ़ें –BREAKING : वकील के खिलाफ कोर्ट के एक्शन से हाईकोर्ट के वकीलों में आक्रोश

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow