रोचक और शिक्षाप्रद गतिविधियों का केंद्र रहा सरला बिरला पब्लिक स्कूल का समर कैंप

Ranchi : सरला बिरला पब्लिक स्कूल में समर कैंप एक्सट्रावेगेंजा 2024 का आयोजन किया गया. पूरा विद्यालय परिसर बच्चों के उत्साह और उल्लास से गूंज उठा. इस कार्यक्रम का उद्घाटन विद्यालय की प्राचार्या परमजीत कौर ने किया. जिसका मुख्य उद्देश्य छात्रों को ऐसा अवसर प्रदान करना था, जिनमें वे विभिन्न गतिविधियों में भाग लेकर अपने […]

May 15, 2024 - 17:30
 0  2
रोचक और शिक्षाप्रद गतिविधियों का केंद्र रहा सरला बिरला पब्लिक स्कूल का समर कैंप

Ranchi : सरला बिरला पब्लिक स्कूल में समर कैंप एक्सट्रावेगेंजा 2024 का आयोजन किया गया. पूरा विद्यालय परिसर बच्चों के उत्साह और उल्लास से गूंज उठा. इस कार्यक्रम का उद्घाटन विद्यालय की प्राचार्या परमजीत कौर ने किया. जिसका मुख्य उद्देश्य छात्रों को ऐसा अवसर प्रदान करना था, जिनमें वे विभिन्न गतिविधियों में भाग लेकर अपने कौशल को उभार सकें.

स्कूल ने एनईपी 2020 और एनसीएफ 2023 के अनुरूप छात्रों के लिए विभिन्न रचनात्मक और ऊर्जावान कला और खेल एकीकृत गतिविधियों का आयोजन किया.

कविता द्विवेदी द्वारा ओडिसी नृत्य पर एक विशेष कार्यशाला आयोजित की गई, जो स्पिक मैके से संबंधित थी. उन्होंने छात्रों को इस नृत्य शैली के महत्व और प्रासंगिकता से अवगत कराते हुए बहुत ही शालीनता और सुंदरता के साथ प्रशिक्षित किया. सुश्री कविता इस क्षेत्र में एक अनुभवी प्रशिक्षक रही हैं.

ब्रश एंड बियॉन्ड के अंतर्गत पारंपरिक कला रूपों को ध्यान में रखते हुए छात्रों को सोहराई और मधुबनी पेंटिंग सिखाए गए. इसके अलावा छात्रों ने बुकमार्क बनाना, क्ले मॉडलिंग, छाता पेंटिंग, रचनात्मक फाइल कवर बनाना, टी-शर्ट पेंटिंग आदि भी सीखा. हेरिटेज एंड हार्मनी के छात्र विभिन्न लोक- नृत्य पर थिरकते नजर आये.

अतिथि शिक्षक ने, मैथ मैजिक के तहत गणित के कठिन से कठिनतम सवालों को चुटकियों में सुलझाने के ट्रिक बताये, जिससे बच्चों का आत्मविश्वास कई गुना बढ़ते देखा गया.

रोबो ट्रिक्स बच्चों का पसंदीदा विषय रहा, जिसमें बच्चों को रोबोट के बेसिक पार्ट्स के बारे में बताया गया. मशीन तथा रोबोट के अंतर को बताते हुए रोबोट कैसे हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करते हैं, इस कोडिंग के द्वारा समझाया गया. रोबोट को कैसे प्रोग्राम कर सकते हैं, इसे बच्चों ने स्वयं करके दिखाया.

एनईपी 2020 के कौशल आधारित शिक्षा के मुख्य उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए इस समर कैंप में शिक्षकों द्वारा प्रत्येक बच्चे की क्षमता और कुशलता को निखारने तथा मांजने का कार्य किया गया.

प्राचार्या परमजीत कौर ने समर कैंप में भाग लेने वाले बच्चों की सराहना की तथा उन्हें विश्वास दिलाया कि इस तरह के कार्यक्रम में भाग लेने से वे समय का सदुपयोग करना सीखेंगे तथा  अपनी क्षमताओं को जानने और नए कौशलों को सीखने का अवसर मिलेगा, जिसका लाभ उन्हें जीवन पर्यंत मिलेगा.

इसे भी पढ़ें : कांग्रेस का बड़ा एलान : झारखंड की नयी आरक्षण पॉलिसी को 9 वीं अनुसूची में डालेंगे

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow